Adipurush Final Trailer : Amazing Hidden Details जो आपके दिल और दिमाग के होश उड़ा देगी

Rate this post

भारतीय सिनेमा की साल 2023 की बहु प्रतिक्षित पैन इंडियन मूवी आदिपुरुष सिनेमाघरों में रिलीज होने की तारीख जहां नजदीक हैं वही इस फिल्म के मेकर्स ने इस मूवी का दूसरा और फाइनल ट्रेलर 6 जून 2023 को ऑफिशियली रिलीज कर दिया हैं।

Adipurush amazing hidden details

आदिपुरुष फिल्म का यह फाइनल ट्रेलर तिरुपति में आदिपुरुष के प्री रिलीज इवेंट में जारी किया गया। जिसमें  फिल्म की लगभग सभी स्टार कास्ट इस मेगा प्री रिलीज रिलीज इवेंट के कार्यक्रम में मौजूद रही। लगभग 2 मिनट 24 सेकंड के इस एक्शन पैक्ड ट्रेलर में आदिपुरुष फिल्म से जुड़ी हुई कुछ ऐसी अमेजिंग हिडिन डिटेल्स के बारे में हम आपको बताने जा रहे है जो आपके दिमाग में नही आई होगी।

सीता हरण

आप सबने आज से पहले दिल और दिमाग को हिला देने वाले इस दृश्य के बारे में रामायण की किसी भी धारावाहिक में आपने नही देखा होगा। जिसे निर्देशक ओम राउत ने बखूबी दिखाया हैं। ट्रेलर का यह दृश्य शुरुवात में ही दर्शकों पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहता हैं।

जहरीले सांपों का झुंड

आदिपुरुष फिल्म के इस फाइनल ट्रेलर में आप सबको हैरान कर देने वाला जो अगला दृश्य देखने को मिलेगा वह हैं। जहरीले सांपों के जोड़े के बीच बेसुध पड़े हुए किसी मानव के शरीर के हाथ का दृश्य।

दरअसल यह दृश्य रामायण की उस घटना का हो सकता है जब भगवान राम और लक्ष्मण पर रावण सेना की तरफ से नागपाश का आक्रमण होता है जिसमें भगवान राम, लक्ष्मण सांपों के जहरीले विष से काल के गर्त में जाने लगते है। यह मानव शरीर हाथ भगवान राम और लक्ष्मण का ही हो सकता है इस दृश्य में।

वैसे इस दृश्य का संबंध रामायण की उस कथा से हो सकता है जब अहिरावण विभीषण का भेष रखकर भगवान राम के शिविर में रात्रि के समय गया था जहां पर लक्ष्मण और भगवान राम को मूर्छित करके वह उन दोनो को पाताल लोक ले गया था दोनो ही भाइयों की नरबलि चढ़ाने के लिए। जिसे जहरीले सर्प अपने विषैले जहर से लगातार मूर्छित कर रहे थे।

Read  Akkad Bakkad Do Haseena Wow Web Series Release Date, Actress Name, Cast, Story, Info More

आभूषण मिलन

जब लंका का राक्षस रावण दक्षिण दिशा से माता सीता का हरण करते हुए पुष्पक विमान से जा रहा था तब माता सीता ने जो आभूषण मोतियों की माला के तौर कर पहन रखा था उसे उन्होंने आकाशीय मार्ग से नीचे की ओर गिराया था।

जिसे वनों में रहने वाले महाराजा सुग्रीव के सैनिकों में से किसी सैनिकों को मिला था। जब भगवान राम और महाराजा सुग्रीव का मिलन हुआ था तब वानर राज सुग्रीव ने यही टूटी हुई मोतियों की माला महाराजा सुग्रीव ने भगवान राम को दिखाई थी।

Leave a comment